Ultimate magazine theme for WordPress.

आज की चर्चा – STEM रोजगार और लैंगिक भेदभाव | STEM: Employment & Gender Discrimination

0



समसामयिक विषयों पर आधारित राज्य सभा टीवी की खास पेशकश आज की चर्चा में बात रोजगार और लैंगिक भेदभाव की। दुनियाभर में सबसे अधिक महिलाए भारत में विज्ञान, टेक्लोलॉजी, इंजिनियरिंग और गणित विषयों में ग्रेजुएट हो रही हैं जिनकी संख्या करीब 40 प्रतिशत है। बावजूद इसके देश में एसटीईएम यानि साइंस, टेक्लोलॉजी, इंजिनियरिंग और मैथ से जुड़े क्षेत्रों से संबंधित रोजगार में उनकी भागीदारी बेहद कम, करीब 14 फीसदी ही है, इस गैप के पाटने की जरूरत है, हालांकि उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडु ने विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित विषयों में स्नातक महिलाओं की बढ़ती संख्या पर खुशी भी जताई है लेकिन नौकरियों में उनकी कम भागीदारी पर चिंता भी जताई। उन्होंने कहा कि आईआईटी में छात्राओं की संख्या में सुधार के लिए सरकार की कोशिशों को रिजल्ट सामने आया है, 2016 में महिलाओं की संख्या सिर्फ 8 प्रतिशत थी, जो अब बढ़कर लगभग 20 प्रतिशत हो गई है। उपराष्ट्रपति ने कहा कि देश में प्रतिभा की कमी नहीं है, जरूरत है तो उन्हें निखारने की। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडु ने रोजगार में लैंगिक आधार पर होने वाले भेदभाव को खत्म करने और इन क्षेत्रों सें संबंधित रोजगार में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने पर जोर दिया है। उपराष्ट्रपति का कहना है कि स्नातकोत्तर और डॉक्टरेट अध्ययनों में भी महिलाओं का प्रतिनिधित्व बहुत कम है, जिसे तेजी से सुधारने की जरूरत है। आज की चर्चा में आज आज हम बात करेंगे…क्या वजह है कि शिक्षित और योग्य होने के बाद भी महिलाओं की संख्या में कमी देखी जा रही है…कैसे इस भेदभाव को खत्म किया जा सकता है और महिलाओं की भागीदारी कैसे बढ़ें.

Guest Name:-
1. Dr. Rashmi Sharma, Scientist (E), Department of Science and Technology, Ministry of Science and Technology
डॉ. रश्मि शर्मा, वैज्ञानिक(ई), विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय
2. Dr. Mukesh Sharma, Professor, Indian Institutes of Technology, Kanpur
डॉ. मुकेश शर्मा, प्रोफेसर, आईआईटी कानपुर

Anchor:- Amrita Chaurasia
Producer:- Sagheer Ahmad
Show- आज की चर्चा | Aaj Ki Charcha

source

Leave A Reply

Your email address will not be published.